Book Kaal Sarp Puja

Book puja on mahashivratri for 100% result by old & educated pandit in trimbakeshwar temple

Call 08378000068

कालसर्प दोष पूजा सामग्री

कालसर्प दोष पूजा सामग्री : काल सर्प पूजा में उपयोग होनी वाली सामग्रियों के बारें में चर्चा करने से पहले हम ये जान लेते है है कि आखिर काल सर्प दोष पूजा क्यों की जाती है और उससे भी पहले यह जानना भी रुचिकर होगा कि काल सर्प दोष क्या होता है ? काल सर्प […]

Kaal Sarp Puja Samagri

What is Kaal Sarp Dosh Kaal Sarp Puja Samagri : Kaal Sarp Dosha makes a person’s life the most challenging and complex one. It proceeds when all seven planets come between Rahu and Ketu. Therefore, person becomes poor of mental harmony and satisfaction. However, they are not be able to attain success and face verbal […]

कालसर्प दोष निवारण विधि

कालसर्प दोष एवं उनके प्रभाव :- कालसर्प दोष निवारण विधि : आइए हम जाने कि कालसर्प दोष आखिर है क्या? जैसा कि आप जानते ही हैं कि प्रत्येक जातक की कुंडली में नवग्रह अलग-अलग स्थानों पर विराजमान होते हैं । नवग्रहों में राहु एवं केतु को भी स्थान प्राप्त है अर्थात जातक की कुंडली में […]

कालसर्प दोष रुद्राक्ष , कवच और निवारण यंत्र

कालसर्प दोष और उसके प्रभाव कालसर्प दोष रुद्राक्ष : कालसर्प दोष किसी भी मनुष्य की कुंडली में उत्पन्न ग्रहों की वह स्थिति है जिसके कारण मनुष्य जीवन में अनेकों परेशानियां आती हैं और जीवन में यह विशेष प्रभाव डालते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यदि किसी कुंडली में सूर्य ,चंद्रमा, मंगल, शनि, बुध, शुक्र एवं […]

नासिक त्र्यंबकेश्वर कालसर्प पूजा

नासिक त्र्यंबकेश्वर कालसर्प पूजा : कालसर्प दोष पूजा उन जातकों की करी जाती है जिनकी कुंडली में यह दोष  बन जाता है । उसके कारण उन्हें अनेक कष्ट या हानियां होती । जैसा कि आप जानते हैं कि यह दोष तब गोचर होता है जब राहु एवं केतु के मध्य बाकी के सातों ग्रह आ […]

कालसर्प योग शांति

कालसर्प योग शांति : क्या है कालसर्प दोष ? कालसर्प दोष को हम इस तरह से समझ सकते हैंकि किसी भी मनुष्य के पूर्व जन्मों में किए गए जघन्य अपराधों के दंड, कुंडली में दोष  के रूप में उत्पन्न या परिलक्षित होते हैं। साधारणतःयह देखा गया है कि किसी मनुष्य की कुंडली में कुछ इस […]

Kalsarp Yog Shanti

What is Kalsarpa Shanti? Kalsarp Yog Shanti : When all planets come between Rahu and Ketu or when all the stars of fortune or planets get captured in a wrong circle or when all the stars of fortune settle at one place in a horoscope then it is termed as conjuction of planets and then […]

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top